Flipkart Deal of the Day

आईएमए में पहली बार जुटी डाक्टरों की भीड़

Jan 13, 2010: जागरण कार्यालय, जमशेदपुर।

डा. आशीष कुमार राय को गोली मारे जाने की घटना पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन जमशेदपुर शाखा द्वारा बुलाई गई जनरल मीटिंग में पहली बार सैकड़ों डाक्टरों की भीड़ जुटीे। डाक्टरों की भीड़ के कारण आईएमए भवन के अंदर से लेकर बाहर रोड तक पर मेले जैसा दृश्य नजर आ रहा था। इससे पहले आईएमए द्वारा बैठक बुलाने पर चिकित्सकों की उपस्थिति लगभग नगण्य रहती थी। आज पहली बार एमजीएम, टीएमएच, टाटा मोटर्स के अलावा सरकारी, नर्सिग होम व निजी प्रैक्टिस करने वाले डाक्टर आईएमए की मीटिंग में काफी संख्या में उपस्थित थे।

मीटिंग के दौरान डाक्टर ने आपस चर्चा कर रहे थे कि अब किसकी बारी है? डाक्टरों ने जिला प्रशासन व पुलिस को अक्षम बताते हुए कहा कि सरकार को अब कुछ करना ही चाहिए। डाक्टर पुराने एसपी अजय कुमार को भी याद कर रहे थे। डा. रीता भटनागर ने जिला प्रशासन को अक्षम करार देते हुए सरकार से मांग की कि जमशेदपुर के लिए कुछ करे, ताकि शहर के लोग बिना भय के जीवन जी सकें। दूसरी ओर डाक्टर सुशोभीत बनर्जी ने कहा कि डाक्टरों को एकजुट होकर आरपार की लड़ाई लड़नी होगी। डा. जीसी मांझी ने कहा कि आखिर डाक्टरों को ही क्यों निशाना बनाया जा रहा, यह समझ से परे है। उन्होंने जिला प्रशासन से आग्रह किया कि अपराधी को तत्काल पकड़ा जाए, ताकि डाक्टरों के डर को दूर किया जा सके। source

Post a Comment
All Rights Reserved
Contact Us